Saturday, February 4, 2023
Homeराजनीतिअरविन्द केजरीवाल झूठे बयान जारी करके घाटे में चल रही डीटीसी में...

अरविन्द केजरीवाल झूठे बयान जारी करके घाटे में चल रही डीटीसी में हुए घोटाले और भ्रष्टाचार को छिपाना चाहते है – कांग्रेस

नई दिल्ली- दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल का झूठ हर दिन नया रंग लेकर सामने आता है। केजरीवाल सरकार के भ्रष्टाचार के चलते 2015 में 1000 करोड़ से अधिक घाटे में चल रही डीटीसी का वर्ष दर वर्ष बढ़कर आज दिल्ली परिवहन का घाटा 39000 करोड़ पहुच चुका है। परंतु केजरीवाल अचानक मीडिया में रहा घाटे को छिपाक डीटीसी ने 2.32 करोड़ रुपये कमाए यह चौकाने वाला बयान दे रहे है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार द्वारा किए गए आर्थिक सर्वेक्षण में डीटीसी परिचालन का वर्ष 2015-16 में घाटा 1250.15 करोड़ था जो 2020-21 में बढ़कर 3034 करोड़ हो गया था।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि जब केजरीवाल सरकार ने 7 वर्षों में डीटीसी के घाटे में तीन गुना की वृद्धि कर दी है तब एक वर्ष में किस नीति के तहत केजरीवाल सरकार ने घाटे को खत्म करके 2.32 करोड़ का मुनाफा कहां से कमाया। उन्होंने कहा कि 1000 बसों की खरीद व रख रखाव पर हुए 4288 करोड़ के घोटाले का कलंक को केजरीवाल भ्रामक व महिलाओं को फ्री यात्रा करवाने की खबर मीडिया छपवाकर छिपाना चाहते है। उन्हांने कहा कि जब दिल्ली सरकार ने जुलाई 2021 में 1000 बसें खरीदने की बात को यह कह कर खारिज कर दिया था कि डीटीसी 2015 से घाटे में चल रही है, तो फिर केजरीवाल दिल्लीवालों को गुमराह करने के लिए झूठे बयान क्यां दे रहे है कि डीटीसी ने मुनाफा कमाया।

अनिल कुमार ने कहा कि 2010 में कांग्रेस सरकार के दौरान डीटीसी के तहत एक भी कलस्टर बस नही चलती थी और डीटीसी बेड़े में 6342 बसों का परिचालन था, दिल्ली में केजरीवाल सरकार आने के बाद 31 जुलाई 2021 तक डीटीसी की बसे घटकर 3760 रह गई जबकि 3240 कलस्टर बसों की बढ़ोत्तरी हुई। उन्होंने कहा कि 2015 के बाद से डीटीसी ने एक भी नई बस नही खरीदी है और जितनी बसे चल रही है उनमें से अधिकतर बसे 10 वर्ष का समय पूरा करके ओवरऐज हो चुकी है। चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि केजरीवाल सरकार के कुप्रबंधन की मिसाल सीएसई द्वारा जारी रिपोर्ट है, अगर उसको आधार माने तो 2025 तक दिल्लीवालों के लिए एक भी डीटीसी बस उपलब्ध नही रहेंगी।

अनिल कुमार ने कहा कि केजरीवाल का महिलाओं को फ्री यात्रा करवाने के पीछे डीटीसी में बड़ा भ्रष्टाचार और घोटाला चल रहा है, क्योंकि महिलाओं को टिकट देने की किस प्रकिया का आंकलन करके अधिकारियों ने महिलाओं को फ्री टिकट की रकम तय करके 114.86 करोड़ का आंकलन निकाला है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल इस तरह के बयान देकर दिल्लीवासियों को गुमराह करके उनसे सहानुभूति बटौरना चाहते है क्योंकि डीटीसी में सफर करने वाले फ्री यात्रा के टिकट की वास्तविकता जानते है।

अनिल कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री केजरीवाल डीटीसी को डूबने से बचाने के लिए लगातार ग्रांट दे रहे है क्योंकि केजरीवाल सरकार के भ्रष्टाचार से ही डीटीसी पूरी तरह घाटे में उसी तरह डूब चुकी है जिस प्रकार भाजपा ने दिल्ली के तीनों निगमों को कंगाल बना दिया और केजरीवाल सरकार के दौरान दिल्ली जल बोर्ड, डूसीब जैसी संस्थाऐं कर्जे में डूबी हुई हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments